mesure issue kisan.jpg

कृषि क्षेत्र का विकास

 

 

(a). अनुमंडल स्तरीय एवं नगर पंचायत स्तरीय ,किसान मंडी का निर्माण.

(b). प्रत्येक पंचायत में चावल /गेंहू /प्याज /आलू /दलहन/तेलहन के भण्डारण की व्यवस्था.

(c). प्रत्येक पंचायत में साप्ताहिकी हाट की व्यवस्था.

(d). प्रत्येक वार्ड (नगर/ ग्राम) में आटा मिल, तेल मिल एवं मार्केट की जीविका के मार्फ़त स्थापना.

(e). पंचायत स्तरीय डेयरी फार्म, खाद्य प्रसंस्करण, हस्त कला, लघु इकाई की  स्थापना जिससे कम से कम 15         मजदूरों  को कार्य / नौकरी मिलेगी.

(f). कृषि केबिनेट एवं कृषि बजट का प्रावधान होगा.

(g). बरसाती नदी / नालो को गंगा ,कोसी, गंडक, बागमती आदि वार्षिकी  बहाव वाली नदियों से जोड़ना.

(h). नहरों /बरसाती नदी एवं वार्षिकी बहाव वालो नदियों के किनारे पर  पीपल ,आमला,तुलसी ,नीम के                   वृछारोपण|

(i).  नदी एवं नहर के किनारे प्रत्येक 2 किमी. पर यात्री शेड एवं सोलर पम्पिंग सेट की व्यवस्था.

(j) . जैविक खाद / कीटनाशक को बढ़ावा दिया जायेगा.

(k). कृषि यंत्रों की खरीदारी पर GST  को घटाकर न्यूनतम कर दिया जायेगा.